LST Shop

View in English
view in English
समाज सेवक वकील

विधि विश्वविद्यालयों में अधिकतर ऐसे पाठयक्रम भी होते हैं, जो सामाजिक समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित करते हैं । यह पाठयक्रम पर्यावरण, जात-पात, इत्यादी जैसे क्षेत्रों की समस्याओं के विषय में जागृति बढ़ाते हैं । उदारहण के लिए एन.एल.एस.आय.यू में बच्चों की समस्याओं के समाधान तलाशने के लिए सेंटर फॉर चाईल्ड ऍण्ड लॉ है, इसी प्रकार स्त्री समस्याओं एवं आर्थिक समस्याओं का कानून में हल ढूंढने के लिए अन्य केन्द्र भी स्थापित किए गये हैं । इन केन्द्रों में छात्र अपने शिक्षकों के साथ कार्य करते हैं और कई बार सरकार भी इन केन्द्रों की सहायता लेती है । इस प्रकार के अनुभवों के कारण अनेक विद्यार्थी विधि-विश्व विद्यालयों से उपाधिकरण के बाद समाज सेवी संस्थाओ के साथ जुड़ जाते हैं । इन छात्रों को संयुक्त राष्ट्र जैसी बेहतरीन संस्थाओ में कार्य करने के अवसर भी मिलते हैं।

यदि आप सामाजिक कठिनाईयों का हल अपनी विधि शास्त्र की विद्या से ढूंढने के लिए आसक्त हैं तो आप इस प्रकार की नौकरी में अपार संतुष्टी पाएँगे । आप बहुत से लोगों के जीवन में एक बेहतर कल ला पाएँगे । आपका कार्य सीधे तौर पर बदलाव लाएगा । आपको समाज में अपार आदर एवं ख्याति प्राप्त होगी । साथ ही, यदि आप एक उच्च दर्जें की संस्था के साथ कार्य करें तो आप आर्थिक रुप से भी संतुष्ट रहेंगे । परंतु छोटी संस्थाओं में धन की कमी के कारण आपको कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता हैं । कई बार आपको यह देखकर तकलीफ हो सकती है कि, आपका परिश्रम अन्य लोगों के आलस के कारण रंग नही ला पा रहा है ।

इस व्यवसाय के बाद आपको अन्य व्यवसाय प्राप्त करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है । परंतु जो कोई समाज में परिवर्तन लाना चाहता है , उसके लिए यह सर्वश्रेष्ठ जीवन-चर्या है ।