LST Shop

सचिन के संदेश
view in English

छ: वर्ष ! गत छ: वर्ष निश्चय ही एक यादगार यात्रा रहे हैं, एक ऐसी यात्रा जिसमें हमारी यह नई वेबसाईट एक मुख्य पड़ाव है । जो संस्था एक छोटे से छात्रावास-कक्ष से शुरू हुई थी, आज सम्पूर्ण भारत में फैल गई है । LST के छात्र दर्जनों की संख्या में विभिन्न विधि-विश्वविद्यालयों में प्रवेश प्राप्त करने में सफल रहे हैं ।

विभिन्न विधि विश्वविद्यालयों में फैले इस विशाल परिवार के कारण यह अनिवार्य है कि हम अपनी सेवाओं का स्वरूप अपने परिवार के इस अंग की आवश्यकताओं के अनुकूल करें । हम चाहते हैं कि हम अपने परिवार के इस अंग को भी अपनी सहायक सेवाएँ उपलब्ध कराएँ । इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए LST को अब दो भागों में विभाजित कर दिया गया है । LST अब वज भाग है जो छात्रों को विधि प्रवेश परीक्षा के लिए प्रशिक्षण देगा एवं Lawentrance.com विधि-छात्रों एवं नए वकीलों का ध्यान रखेगा ।

आप यह देखेंगे कि हमारा यह प्रयास रहता है कि हम हर उस छात्र को अपनी सेवाएँ प्रदान करना चाहते हैं जो कि विधि-शास्त्र से जुड़ा है या फिर जुड़ना चाहता है । हम मानते हैं की जानकारी प्राप्त करने में भाषा की बाधा के कारण किसी भी विद्यार्थी को विधि - शास्त्र की रोमांचक दुनिया से वंचित नहीं रखा जाना चाहिए । अत: इस लक्ष्य के उपलक्ष में हम आपके लिए लाएँ हैं Lawentrance.com हिन्दी मैं । हम आपको विश्वास दिलाते हैं कि समय के साथ आपकी यह वेबसाईट और भी अच्छी बनाई जाएगी । हम इस दिशा में आपका पूरा सहयोग चाहेंगे । हम आप से निवेदन करते हैं कि यदि आपकी कोई विशेष टिप्पणियां या विचार हो तो उन्हें आप अवश्य हम तक पहुंचाएँ और हम हर संभव प्रयास कर आपकी वेबसाईट को बेहतर बनाएँगे ।

आप अपने सभी विचार sachin@lawentrance.com पर या bhavin@lawentrance.com पर भाविन को भेज सकते हैं ।

आपके सहयोग की आशा करते हुए,
आपका
सचिन मलहान